लड्डू गोपाल जी की सेवा , पूजा विधि ,

Spread the love
  • 545
    Shares

बाल गोपाल लड्डू गोपाल

 

आपके घर में लड्डू गोपाल जी हैं , आप लड्डू गोपाल जी की आराधना करते हैं , तो आप इन बातों का  विशेष ध्यान रखे |

  • सबसे पहले अपने मन में यह संकल्प ले की यह लड्डू गोपाल जी का घर हैं | मैं इनका सेवक हूँ और लड्डू गोपाल जी की सेवा ही मेरा परम् कर्तव्य हैं |
  • दूसरी बात यह की अब लड्डू गोपाल जी आपके घर के सदस्य हैं , अब आपका परिवार ही लड्डू गोपाल जी का परिवार हैं | अत: लड्डू गोपाल जी अपने घर के मन्दिर में सम्मानित स्थान दिया जाये |
  • परिवार के सदस्यों की आवश्यकता के अनुसार ही लड्डू गोपाल जी की भी हर छोटी – बड़ी आवश्यकता का ध्यान रखा जाये |
  • एक विशेष बात यह हैं की लड्डू गोपाल जी किसी ताम – झाम के नहीं आपके प्रेम और आपके भाव के भूखे हैं , अत: उनको जितना प्रेम जितना भाव अर्पित किया जाता हैं वह उतने ही आपके होते जाते हैं |
  • प्रतिदिन लड्डू गोपाल जी को गुनगुने पानी से सर्दी में तथा ताजा पानी से गर्मी में स्नान करवाये , स्नान के बाद उन्हें धुले हुये तथा त्यौहार या आपके घर में हो रहे किसी उत्सव पर नये वस्त्र पहनाये |
  • उनके दूध , फलाहार , भोजन व रात्रि शयन का भी ख्याल रखे |
  • आपके घर मनाने वाली मिठाई , फल या खाने की कोई भी चीज आये सबसे पहले लड्डू गोपाल जी को भोग लगाये |
  • लड्डू गोपाल जी को खिलोने , बांसुरी अत्यंत प्रिय हैं , उनके लिए भजन कीर्तन का प्रतिदिन संध्या समय अपने परिवार के सभी सदस्यों के साथ आरती करे |
  • समय समय पर लड्डू गोपाल जी को बाहर घुमाने अवश्य ले जावें |
  • लड्डू गोपाल जी से कोई भी नाता अवश्य कायम करे ,चाहे वह भाई , पुत्र , मित्र , गुरु , आदि कोई भी क्यों न हो उसे पूरी निष्ठां से निभाये |
  • भगवान कृष्ण के नामों में से लड्डू गोपाल जी को कोई प्यारा सा नाम अवश्य दे जिससे अपनत्व बढ़ेगा |
  • लड्डू गोपाल जी के साथ खेले , अपने मन की बाते करे ,अपने सुख़ – दुःख में भागीदार बनाये उन्हें अपने हाथों से भोजन करवाए बाद में आप स्वयं भोजन करे |
  • प्रतिदिन रात्रि में लड्डू गोपाल जी को शयन अवश्य कराये , जिस प्रकार एक माँ अपने छोटे बालक को सुलाती हैं उसी प्रकार लोरी गाकर , थप थपाकर सुलाए |

यु तो प्रत्येक प्रत्येक जन्माष्टमी पर लड्डू गोपाल जी की पूजा धूम – धाम से होती हैं , किन्तु यदि आपको वह तिथि याद हैं जिस दिन लड्डू गोपाल जी ने आपके जीवन , घर में प्रवेश किया तो उस तिथि को लड्डू गोपाल जी का जन्म दिन के रूप में बड़ी धूम धाम से मनाये |

छोटे – छोटे बच्चों को घर बुलाकर उनके साथ लड्डू गोपाल जी का जन्म दिवस मनाये और बच्चो को माखन मिश्री का प्रसाद व खिलोने भेट स्वरूप दे देवे |

आपके सारे कष्ट , चिंताए अब लड्डू गोपाल जी की हैं वे सब कष्ट हर कर आपके घर को खुशियों से भर देंगे |

यह श्री लड्डू गोपाज जी का अत्यंत प्रिय मन्त्र हैं

“ ॐ श्रीं नम: श्री कृष्णाय परिपूर्णत माय स्वाहा “

सात अक्षरों वाला मन्त्र –

“ गोवल्लभाय स्वाहा “

यु तो और भी बहुत से कार्य हैं जों भक्त अपनी श्रद्धा के अनुसार करते हैं , किन्तु यदि इन मुख्य – मुख्य बातो का भी ख्याल रखा जाये तो भी लड्डू गोपाल जी को आसानी से प्रसन्न किया जा सकता हैं |

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम:

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम: