लड्डू गोपाल जी की सेवा || पूजा विधि || Ladu Gopal Ji Ki Seva || Puja Vidhi

बाल गोपाल लड्डू गोपाल

 

आपके घर में लड्डू गोपाल जी हैं , आप लड्डू गोपाल जी की आराधना करते हैं , तो आप इन बातों का  विशेष ध्यान रखे |

  • सबसे पहले अपने मन में यह संकल्प ले की यह लड्डू गोपाल जी का घर हैं | मैं इनका सेवक हूँ और लड्डू गोपाल जी की सेवा ही मेरा परम् कर्तव्य हैं |
  • दूसरी बात यह की अब लड्डू गोपाल जी आपके घर के सदस्य हैं , अब आपका परिवार ही लड्डू गोपाल जी का परिवार हैं | अत: लड्डू गोपाल जी अपने घर के मन्दिर में सम्मानित स्थान दिया जाये |
  • परिवार के सदस्यों की आवश्यकता के अनुसार ही लड्डू गोपाल जी की भी हर छोटी – बड़ी आवश्यकता का ध्यान रखा जाये |
  • एक विशेष बात यह हैं की लड्डू गोपाल जी किसी ताम – झाम के नहीं आपके प्रेम और आपके भाव के भूखे हैं , अत: उनको जितना प्रेम जितना भाव अर्पित किया जाता हैं वह उतने ही आपके होते जाते हैं |
  • प्रतिदिन लड्डू गोपाल जी को गुनगुने पानी से सर्दी में तथा ताजा पानी से गर्मी में स्नान करवाये , स्नान के बाद उन्हें धुले हुये तथा त्यौहार या आपके घर में हो रहे किसी उत्सव पर नये वस्त्र पहनाये |
  • उनके दूध , फलाहार , भोजन व रात्रि शयन का भी ख्याल रखे |
  • आपके घर मनाने वाली मिठाई , फल या खाने की कोई भी चीज आये सबसे पहले लड्डू गोपाल जी को भोग लगाये |
  • लड्डू गोपाल जी को खिलोने , बांसुरी अत्यंत प्रिय हैं , उनके लिए भजन कीर्तन का प्रतिदिन संध्या समय अपने परिवार के सभी सदस्यों के साथ आरती करे |
  • समय समय पर लड्डू गोपाल जी को बाहर घुमाने अवश्य ले जावें |
  • लड्डू गोपाल जी से कोई भी नाता अवश्य कायम करे ,चाहे वह भाई , पुत्र , मित्र , गुरु , आदि कोई भी क्यों न हो उसे पूरी निष्ठां से निभाये |
  • भगवान कृष्ण के नामों में से लड्डू गोपाल जी को कोई प्यारा सा नाम अवश्य दे जिससे अपनत्व बढ़ेगा |
  • लड्डू गोपाल जी के साथ खेले , अपने मन की बाते करे ,अपने सुख़ – दुःख में भागीदार बनाये उन्हें अपने हाथों से भोजन करवाए बाद में आप स्वयं भोजन करे |
  • प्रतिदिन रात्रि में लड्डू गोपाल जी को शयन अवश्य कराये , जिस प्रकार एक माँ अपने छोटे बालक को सुलाती हैं उसी प्रकार लोरी गाकर , थप थपाकर सुलाए |

यु तो प्रत्येक प्रत्येक जन्माष्टमी पर लड्डू गोपाल जी की पूजा धूम – धाम से होती हैं , किन्तु यदि आपको वह तिथि याद हैं जिस दिन लड्डू गोपाल जी ने आपके जीवन , घर में प्रवेश किया तो उस तिथि को लड्डू गोपाल जी का जन्म दिन के रूप में बड़ी धूम धाम से मनाये |

छोटे – छोटे बच्चों को घर बुलाकर उनके साथ लड्डू गोपाल जी का जन्म दिवस मनाये और बच्चो को माखन मिश्री का प्रसाद व खिलोने भेट स्वरूप दे देवे |

आपके सारे कष्ट , चिंताए अब लड्डू गोपाल जी की हैं वे सब कष्ट हर कर आपके घर को खुशियों से भर देंगे |

यह श्री लड्डू गोपाज जी का अत्यंत प्रिय मन्त्र हैं

“ ॐ श्रीं नम: श्री कृष्णाय परिपूर्णत माय स्वाहा “

सात अक्षरों वाला मन्त्र –

“ गोवल्लभाय स्वाहा “

यु तो और भी बहुत से कार्य हैं जों भक्त अपनी श्रद्धा के अनुसार करते हैं , किन्तु यदि इन मुख्य – मुख्य बातो का भी ख्याल रखा जाये तो भी लड्डू गोपाल जी को आसानी से प्रसन्न किया जा सकता हैं |

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम:

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम:

लड्डू गोपाल जी की पूजा कैसे करे ये वीडियो द्वारा जाने नीचे दिए गए वीडियो को देखकर

अन्य समन्धित पोस्ट

धर्मराज जी की कहानी 

गणेश जी की कहानी पढने के लिए यहाँ क्लिक करे 

धर्मराज जी की पोपा बाई की कहानी 

गणेश जी की कहानी सास बहूँ वाली

तनोट माता की आरती यहाँ पढ़े 

तिल चौथ व्रत कथामाघ मास

षट्तिला एकादशी [ माघ मास कृष्ण पक्ष  ]

जया एकादशी [ माघ मास शुक्ल पक्ष

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back To Top