0

राजा शिबी का कबूतर की प्राण रक्षा के लिए बाज को अपने शरीर का मांस काटकर देना Raja Shibi ka Kabutar Ki Prana Raksha Ke Liye Baaj Ko Apane Sharir Ka  Mans Kat…

Continue Reading
0

भगवान शिवजी के दुर्वासा अवतार की कथा भगवान शिवजी के दुर्वासा अवतार की कथा  ब्रह्मा के परम् तपस्वी और अत्री नामक पुत्र हुए वे बड़े ज्ञानी , विद्वान् तथा ब्रह्माजी के आज्ञाकारी पुत्र…

Continue Reading
0

उमा महेश्वर व्रत और पूजा विधि |Uma Maheshwar Vrat Vidhi उमामहेश्वर व्रत का महत्त्व समस्त व्रतो में श्रेष्ठ एक व्रत हैं जिसे उमामहेश्वर व्रत के नाम से जाना जाता हैं |भविष्य पुराण के…

Continue Reading
0

भगवद्गीता प्रथम अध्याय सहित BHAGAVADGITA PRATHM ADHYAAY SAHIT  दोनों सेनाओं के प्रधान-प्रधान शूरवीरों की गणना और सामर्थ्य का कथन धृतराष्ट्र उवाच धर्मक्षेत्रे कुरुक्षेत्रे समवेता युयुत्सवः । मामकाः पाण्डवाश्चैव किमकुर्वत संजय ॥ भावार्थ धृतराष्ट्र…

Continue Reading
0

मनोरथ पूर्णिमा व्रत की विधि , महत्त्व | Manorath Purnima Vrat Vidhi Mahttav मनोरथ पूर्णिमा मनोरथ पूर्णिमा फाल्गुन मास की पूर्णिमा से संवत्सर पर्यन्त किया जाने वाला एक व्रत हैं , जों मनोरथ…

Continue Reading
0

रातीजगा गीत | पितर पधारो म्हारे आंगणे  5 | piter pdhaaro mhaare aangn 5 थार पग पग फुलडा बिछावे म्हारी माय ,  पितर पधारों म्हारे आंगनिया पितर पधारों म्हारे आंगनिया || कामधेनु गाय…

Continue Reading
0

Raatijaga mein Devi Devta ka geet | रातीजगा गाये जाने वाले  सभी देवी देवताओं का गीत   म्हारी  माता ने मेह्मंद ल्यावोसा  , देखण  मत जावोसा ,  म्हारा काना ने कुण्डल ल्यावोसा , देखण …

Continue Reading
0

सुखी जीवन जीने के लिए क्या करे क्या नहीं करे . सुखी जीवन अपनाये – शांति , समृद्धि और खुशहाली…….. जीवन में ये गुण अपनाये – शांति , समृद्धि और खुशहाली सुखी रहने…

Continue Reading
0

पितृ जी का गीत काचं की अलमारी में टिका पडा  हैं काचं की अलमारी में नेकलिस पड़ा हैं मै कैसे पहनू रे पितर परदेश में मै कैसे पहनू रे पितर परदेश में पितर…

Continue Reading
0

राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी | Rashtrapita Mahatma Gandhi Ji जीवन परिचय महात्मा गाँधी जन्म – 2 अक्टूबर1869 पोरबन्दर मृत्यु – 30 जनवरी 1948 [ 78 वर्ष की आयु में ] शिक्षा – यूनिवर्सिटी काँलेज…

Continue Reading