Category: कहानियाँ

अक्षय तृतीया महत्त्व , व्रत कथा , आखातीज Akshaya Tritiya Ka Mhttv , Akshaya Tritiya Vrt Katha

अक्षय तृतीया , आखातीज Akshaya Tritiya :– अक्षय तृतीय बैशाख मास में शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया या आखातीज के नाम से जाना जाता हैं | इस दिन किये गये दान , पुण्य , जप , तप , हवन , पूजा ,पाठ वे सब अक्षय हो जाते हैं | सत्ययुग का आरम्भ […]

दूर्वाष्टमी व्रत [ दुबडी आठे ] की कहानी , व्रत विधि | Durvaashtmi vrt [ Dubdi Aathe Ki Khani , Vrt Vidhi ]

दूर्वाष्टमी व्रत विधि [ दुबडी आठे ] भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को दूर्वाष्टमी का व्रत किया जाता हैं |  इस दिन प्रात: स्नानादि से निर्वत हो लाल रंग के वस्त्र पहनकर एक पाटे पर दूर्वा अर्थात बालको की मुर्तिया , सर्पों की मूर्ति ,  एक मटका और एक स्त्री का चित्र […]

सावित्री माता की कथा , व्रत विधि | Savitri Mata Ki Katha ,Vart Vidhi

प्राचीन काल में एक सत्यवादी प्रजापालन में व्यस्त अश्वपति नाम का राजा राज्य करता था , उसे कोई सन्तान नहीं थी | इसलिये उसने अपनी पत्नी के साथ मिलकर माँ सावित्रीं की कठोर पूजा व आराधना की ,आराधना से प्रसन्न हो माँ सावित्री ने राजा को वर दिया की राजन ! तुम्हे मेरे ही अंश […]

पथवारी माता की कहानी [पथवारी माता पथ की धराणी ] | Pathvari Mata ki Kahani

पथवारी माता की कहानी एक बार पथवारी माता ,पाल और विनायक जी में झगड़ा हो गया | सब आपस में स्वयं को बड़ा बताने लगे | इतने में एक ब्राह्मण का लड़का आया | पाल , पथवारी ,गजानन्द जी ने उसे रोका और कहा , लडके  रुक जा और हमारा न्याय कर | लड़का बोला […]

शीतला सप्तमी की कहानी [ बासौडा ] | Shitla Saptmi ki Kahani

होली के 7 दिन बाद शीतला सप्तमी का त्यौहार मनाया जाता हैं | इस वर्ष शीतला सप्तमी गुरुवार  शीतला सप्तमी के दिन शीतला माता का पूजन किया जाता हैं | शीतला सप्तमी का पर्व बड़ी धूम धाम से मनाया जाता हैं | ऐसी मान्यता हैं की इस दिन गर्म खाना नहीं बनाते और खाते भी […]

सूरज [ सूरज रोट ] रविवार की कहानी | Suraj rvivar ki khani

सूरज रविवार का व्रत गणगौर पूजन करने वाली कन्याओं और स्त्रियों के लिए सूरज रविवार का व्रत करना आवश्यक माना गया हैं |  इस व्रत को ‘ होली पाछला रविवार ‘ व ‘ सूरज रोट का व्रत ‘ भी कहते हैं | होली के बाद और गणगौर से पहले आने वाले रविवार को यह व्रत […]

लोक देवता गोगाजी lok devta gogaji

राजस्थान के लोक देवताओं में गोगाजी का विशेष महत्त्व हैं | भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की नवमी तिथि को उनकीं याद में यह त्यौहार मनाया जाता हैं , जिसे ” गोगा नवमी “ के नाम से जाना जाता हैं अश्वारोही योद्धा के रूप उनकी पूजा की जाती हैं | गोगाजी के स्थान पर सर्प […]

विनायक जी की कहानी | SHREE VINAYAK JI BHAGWAN KI ANDHI BUDHIYA MAAi KI KAHANI

विनायक जी की कहानी | SHREE VINAYAK JI BHAGWAN KI KAHANI  एक अन्धी बुढिया माई के पति बेटा व बहु थे | वे बहुत गरीब थे | बुढिया माई के प्रतिदिन गणेशजी की पूजा करने का नियम था | एक दिन गणेशजी भगवान उससे प्रसन्न हो गये और बोले बुढिया माई तेरी पूजा से मैं […]

माघ मास [माघ स्नान ] की कथा

स्कन्ध पुराण के रेवा खण्ड में माघ स्नान की कथा का उल्लेख में आया हैं की प्राचीन काल में नर्मदा तट पर शुभव्रत नामक ब्राह्मण निवास करते थे | वे गुणी विद्धवान थे |किन्तु उनका स्वभाव धन संग्रह करने का था | उन्होंने धन तो बहुत संग्रह किया | वृद्धवस्था के दौरान उन्हें अनेक रोगों […]

लपसी तपसी की कहानी | Lapsi Tapsi Ki kahani

लपसी तपसी की कहानी Lapsi Tapsi Ki kahani एक लपसी था , एक तपसी था | तपसी तो भगवान की तपस्या करता था और लपसी सवा सेर की लपसी बना कर उसका भोग लगाकर जीम लेता | एक दिन दोनों लड़ने लगे | लपसी बोला में बड़ा , तपसी बोला में बड़ा | इतने में […]

Back To Top