Tag: ॐ गंग गणपतये नम :

तिल चौथ व्रत की कथा | माघी चौथ व्रत कीकहानी | व्रत पूजन विधि | तारीख 2022 | Til Chauth vrat ki kahani , Sankat Chturthi Vrat Katha 2022

like, share , subscribe and comment तिल चौथ व्रत की कथा { माघी चौथ } व्रत की विधि , व्रत कहानी , उद्यापन विधि 2022  | Til Chauth , Sankat Chturthi Vrat Katha 2022  तिल चौथ व्रत माघ मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को किया जाता हैं | इस वर्ष तिल चौथ21    जनवरी […]

श्री गणेश जी भगवान की कहानी | Ganesh Bhagwan Ji Ki Kahani

श्री गणेश जी भगवान की कहानी विष्णु भगवान लक्ष्मी जी का शुभ विवाह होने लगा | समस्त देवी – देवता को बारात में जाने के लिए बुलाया गया तो गणेशजी भगवान को नहीं बुलाया सोचा अच्छे नही लगेगें | सुन्ड सुन्डयाला , दुन्द दुन्द्याला , छाजले से कान , मोटा मस्तक वाले हैं बारात में […]

गणेश चतुर्थी 2021 वैदिक विधि से पूजन , शुभ मुहूर्त 2021 | Bhagwan Ganesh Vedaik Pujan Vidhi , Shubh Muhurt 2021

प्रथम पूज्य गजानंद भगवान गणेश जी के पूजन का शुभ मुहूर्त  इस वर्ष गणेश चतुर्थी 10  सितम्बर  शुक्रवार 2021  को हैं | विशेष मुहूर्त :-  चर , लाभ ,अमृत चौघडिया – प्रात  6:13 से प्रात 10 : 51  तक हैं  शुभ चौघडिया :-  दोपहर 12 बजकर 44 दोपहर 1 बजकर 56 मिनट तक  अभिजित  – […]

गणेश जी की कहानी सास बहूँ वाली | Ganeshji Ki Kahani gneshji-ki-kahani-saas-bahu-wali

श्री गणेश जी भगवान की कहानी एक सास बहु थी | सास उसकी बहु को खाना नहीं देती थीं | बहु रोज नदी पर जाती तो जाते समय घर से आटा ले जाती | नदी के पानी से आटा गूंधती | गणेश जी भगवान  के मन्दिर के दीपक से घी लेती भोग में से गुड […]

शिव पुराण के अनुसार गणेशोत्पति की कथा | Shiv Puran Ke Anusar Ganesh Bhagwan Ki Janm Katha

शिव पुराण के अनुसार गणेशोत्पति की कथा shiv Puraan Ke Anusar Ganesh Bhagwan Ki Janm Katha भगवती पार्वती की दो सखिया थी एक जया और दूसरी विजया उन्होंने माँ पार्वती से कहा – “ हे सखी “ ये सभी रूद्र गण हैं जो प्रभु की आज्ञा में सदैव तत्पर रहते हैं | असंख्य गणों में […]

भगवान गणेश की जन्म कथा [ स्कन्दपुराण ] के अनुसार | Bhagwan Ganesh Ki Janm Katha [ Skndpuraan Ke Anusaar ]

 भगवान गणेश जन्म कथा माता पार्वती ने अपने उबटन की बत्तियो से एक शिशु बनाकर उस में प्राण प्रविष्ट कर उसे अपना पुत्र मान लिया और कहा पुत्र ! “ मैं स्नान कर रही हूँ , तुम किसी को अंदर मत आने देना |’ जब पार्वती जी स्नान कर रही थी बालक पहरा लगा रहा […]

संकष्टी चतुर्थी व्रत पूजन विधि , कथा || Sankashti Chaturthi Vrat pujan vidhi , Katha

संकष्टी चतुर्थी प्रत्येक मास में कृष्ण पक्षमें विनायक चतुर्थी और शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को संकष्टी चतुर्थी मनाई जाती हैं | संकष्टी चतुर्थी के दिन भगवान गणेश का पूजन किया जाता हैं | ऐसी मान्यता हैं की संकष्टी चतुर्थी को व्रत एवम भगवान गणेश का पूजन करने से सभी कार्य सिद्ध हो जाते हैं […]

श्री गणेश चालीसा | Shree Ganesh Chalisa

श्री गणेश चालीसा || दोहा || जय गणपति सद्गुण सदन , करि वर बदन कृपाल | विघ्न हरण मंगल करण , जय जय गिरिजालाल || || चौपाई || जय जय गणपति गणराजू | मंगल भरण करण शुभ काजू || जब गज वन्दन सदन सुख दाता | विश्व विनायक बुद्धि विधाता || वक्र तुंड शुचि शुण्ड […]

श्री संकटनाशनगणेशस्त्रोत | Sankat Nashan Ganesh Stotram

संकट नाशन गणेश स्त्रोत्रम भगवान गणपति जी का अत्यंत प्रभावशाली स्त्रोत्र हैं | इस स्त्रोत्र का नित्य पाठ करने से सभी विपत्तियों का नाश हो जाता हैं | प्रात: काल भगवान गजानन्द के ध्यान मात्र से ही जीवन की राह आसन हो जाती हैं | जीवन में खुशिया ही खुशिया आती हैं | गणपति स्त्रोत्र […]

हाथ में मोली धागा बाँधने का धार्मिक महत्त्व | Hath Mein Moli Dhaga Bandhne Ka Dharmic Mhttv

मोली का शाब्दिक अर्थ हैं “ सबसे ऊपर “ | मोली का वैदिक नाम उपमणि भी हैं | मोली के प्रकार भी हैं | शंकर भगवान के सिर पर चन्द्रमा विराजमान हैं इसलिये इसे चन्द्र मोली भी कहा जाता हैं | हिन्दू धर्म में हर धार्मिक कार्यक्रम में , पूजा में , रोली का तिलक […]

Back To Top