राती जगा में गाया जाने वाला गीत 6 पितर ऊबा बारण जी | RAATIJGAA GEET

राती जगा में गाया जाने वाला गीत 6 पितर ऊबा बारण जी

सोनी जी खिड़की खोल पितर ऊबा बारण जी , ऊबा बारण जी,

आवो पितरा बैठो जाजम ढाल काई र कारण आविया जी |

आवो पितरा बैठो जाजम ढाल काई र कारण आविया जी |

दादोसा बुलाया माझल  रात कारज सारण आविया जी, सारण आविया जी

बाबोसा बुलाया माझल  रात कारज सारण आविया जी , सारण आविया जी

हाथा में दुध को  गिलास जाता तो पितर पी लीजो जी  पिली जो जी

हाथा में हरिया रुमाल  जाता तो मुंडो पूछ लीजो  जी  ,

खातिडा खिड़की खोल पितर ऊबा बारण जी , ऊबा बारण जी,

आवो पितरा बैठो जाजम ढाल काई र कारण आविया जी |

आवो पितरा बैठो जाजम ढाल काई र कारण आविया जी |

काकोसा  बुलाया माझल रात कारज सारण आविया जी, सारण आविया जी

बीरोसा  बुलाया माझल  रात कारज सारण आविया जी , सारण आविया जी

आवो पितरा बैठो पाटो ढाल थे  भोग लगाओ  जी |

आवो पितरा बैठो पाटो ढाल थे  भोग लगाओ  जी |

आवो पितरा बैठो जाजम ठाल काई र कारण आविया जी |

अन्य समन्धित रातिजगा गीत

पितर परदेश में 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back To Top