लाल रंग का धार्मिक महत्त्व | Laal Rang Ka Dharmik Mahattv

Spread the love

Last updated on December 22nd, 2018 at 01:29 pm

लाल रंग 

हिन्दू धर्म में लाल रंग का विशेष महत्त्व हैं | सभी शुभ कार्यो में लाल रंग का उपयोग किया जाता हैं | सभी देवी – देवताओ को लाल चन्दन या लाल रोली का टिका लगाया जाता हैं |

लाल रंग चन्द्रमा का प्रतीक हैं | लाल रंग सोभाग्य , वीरता , पवित्रता का प्रतीक हैं | जब सिपाही युद्ध भूमि में जाता हैं तो उसे लाल टिका लगाया जाता हैं लाल टिका शौर्य , वीरता , जीत का प्रतीक हैं | सौभाग्वती महिलाये लाल बिंदी व लाल सिंदूर से अपनी मांग सजाती हैं | उसकी सुन्दरता को बढ़ता हैं उसके सोभाग्य का प्रतीक पति प्रेम को दर्शाता हैं | लाल रंग स्नेहमयी हैं|

धार्मिक दृष्टि से रंगो का महत्त्व यहाँ पढ़े

 माँ भगवती दुर्गा स्नेहमयी लाल वस्त्रो में सुसज्जित होती हैं | माँ लक्ष्मी लाल रंग के कमल पर विराजमान रहती हैं | जो समृद्धि , धन – धान्य  का प्रतीक हैं | लाल रंग दृढ संकल्प को बढ़ाता हैं | लाल रंग हमारी संस्कृति का प्रतीक हैं |लाल रंग से सकारात्मक उर्जा प्राप्त होती हैं | धार्मिक कार्यो में लाल रंग का उपयोग प्रचुर मात्रा में किया जाता हैं |

हरा रंग का धार्मिक महत्त्व

यह भी जाने :-

रंगो का धार्मिक महत्त्व 

धर्म की परिभाषा 

लड्डू गोपाल जी की पूजा विधि

व्रत उपवास का महत्त्व

गाय का धार्मिक महत्त्व 

बारह ज्योतिर्लिंग दर्शन 

श्री शालग्राम भगवान पूजा का महत्त्व