धार्मिक दृष्टि से रंगो का महत्त्व | Dharmeek Drishti Se Rango Ka Mahattv

By | December 19, 2018

रंगो से मिलने वाले संदेश

रंगो में सुन्दरता , धार्मिकता और कल्याण का संदेश मिलता हैं | हिन्दू देवी देवताओ के चित्र में जो रंग उपयोग में आते हैं उनसे दीर्घ जीवन और धार्मिक दृष्टि से उपयोगी हैं | रंगो का हमारे मन पर भी गहरा असर होता हैं | रंगो से मन प्रसन्न और उर्जावान रहता हैं | रंग हमारे मित्र के समान होते हैं | इनसे निराशा दूर होती हैं |

मन प्रसन्न रहता हैं | हमारे दैनिक जीवन में बिना रंगो के जीवन की कल्पना करना नामुकिन हैं | रंग हमारे जीवन का आधार हैं | जब चित्रकार देवी देवता का चित्र या प्रतिमा बनता हैं तो उसमें रंगो से इस पकर सजीव बना देता हैं मानो ईश्वर हमारे समक्ष हैं और हम उनके साथ अपने सुख दुःख बाँट रहे हैं | जब से दुनिया बनी तब से ही धर्म के प्रति लगाव रुझान बनाता हैं |

सूर्य की किरणों से ही सब रंग बनते हैं | इन्द्रधनुष के रगों को ही रंगो का आधार माना हैं | सूर्य के प्रकाश से इस धरती पर जीवन सम्भव हुआ हैं | सूर्य के प्रकाश से पेड़ – पौधे , जिव जन्तु पलते हैं | सभी रंग प्रकति की देन हैं | रंग मनुष्य को स्वस्थ सुंदर बुद्धिमान बनाते हैं |

लाल रंग सौभाग्य का प्रतीक हैं | हरा रंग हरियाली सुख शांति का प्रतीक हैं | भगवा रंग धार्मिकता का प्रतीक हैं | नीला रंग शक्ति का प्रतीक हैं | सफेद रंग शांति का प्रतीक हैं | पीला रंग विद्या और ज्ञान का प्रतीक हैं | गुलाबी रंग जीवन में मधुरता का प्रतीक हैं | हर रंग कुछ न कुछ कहता हैं |

लाल रंग का धार्मिक महत्त्व

यह भी जाने :-

धर्म की परिभाषा 

लड्डू गोपाल जी की पूजा विधि

व्रत उपवास का महत्त्व

गाय का धार्मिक महत्त्व 

बारह ज्योतिर्लिंग दर्शन 

श्री शालग्राम भगवान पूजा का महत्त्व 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.