Category: महात्म्य

गाय [ गौ ] का धार्मिक महत्त्व [ GAAY KA MHTTV ]

  गौ  [ गाय ] मानव संस्कृति की रीढ़ हैं |  ‘ मातर: सर्व भुतानामं गाव: ‘ के अनुसार गाय पृथ्वी के समस्त प्राणियों की जननी हैं | आर्य संस्कृति में पनपे सभी प्राणी गौ के प्रति आदर भाव रखते हैं | हे अवध्य गौ ! उत्पन्न होते समय तथा उत्पत्ति के पश्चात भी मेरा […]

बसन्त पंचमी का पौराणिक महत्त्व ,कथा 2021 | Basant Panchami Dates 2021

  बसन्त पंचमी  16  फरवरी   2021   बसन्त पंचमी  16 फरवरी 2021  को हैं बसन्त पंचमी का दूसरा नाम श्री पंचमी भी हैं |  पुजा का शुभ मुहर्त 10  बजकर 45  मिनट से लेकर 12 बजकर 35 मिनट तक हैं | इस दिन विद्या  की देवी सरस्वती का पूजन किया जाता हैं | बसन्त पंचमी माघ […]

मन्दिर में घंटी बजाने का महत्त्व व लाभ

हिन्दू धर्म में देवालयों व मन्दिरों के बाहर घंटिया लगाने की परम्परा ऋषि मुनियों ने शुरू की थी | इस परम्परा को बोद्ध धर्म , इसाई धर्म , ने भी अपना रखा हैं |चर्च में भी घंटी और घंटा लगाया जाता हैं | घंटिया चार प्रकार की होती हैं –  गरुड घंटी — गरुड घंटी […]

लड्डू गोपाल जी की सेवा || पूजा विधि || Ladu Gopal Ji Ki Seva || Puja Vidhi

बाल गोपाल लड्डू गोपाल   आपके घर में लड्डू गोपाल जी हैं , आप लड्डू गोपाल जी की आराधना करते हैं , तो आप इन बातों का  विशेष ध्यान रखे | सबसे पहले अपने मन में यह संकल्प ले की यह लड्डू गोपाल जी का घर हैं | मैं इनका सेवक हूँ और लड्डू गोपाल […]

द्वादशज्योतिर्लिंग | बारह ज्योर्तिर्लिंग | भगवान शिव के दिव्य दर्शन | BHAGWAN SHIV KE DIVY DARSHAN | BARAH JYOTIRLING

द्वादशज्योतिर्लिंग | बारह ज्योर्तिर्लिंग | भगवान शिव के दिव्य दर्शन | BHAGWAN SHIV KE DIVY DARSHAN | BARAH JYOTIRLING भगवान शिव परात्पर ब्रह्म हैं | उनका देव स्वरूप सभी के लिए वन्दनीय हैं | शिव पुराण के अनुसार सभी प्राणियों के कल्याण के लिये भगवान शंकर लिंगरूप में विविध तीर्थों में निवास करते हैं | […]

हनुमान जी भगवान वीर बजरंग बलि का सिंदूर प्रेम |HANUMAN JI BHGWAN VEER BAJRANG BALI KA SINDUR PREM

हनुमान जी भगवान वीर बजरंग बलि का सिंदूर प्रेम |HANUMAN JI BHGWAN VEER BAJRANG BALI KA SINDUR PREM श्री हनुमान की आराधना भारतवर्ष में बजरंगबलि जय हनुमान जी की पूजा उपासना हर घर में बड़े व्यापक रूप से की जाती हैं | वे सभी मंगल और मोदों के मूल कारण , संसार के भार को […]

माघ स्नान – विधि , पौराणिक महत्त्व

    इस मास  में मनुष्यों को स्नान कर्म में शिथिलता रहती हैं ,फिर भी माघ स्नान का विशेष फल होने से इसकी विधि का वर्णन कर रहा हूँ | जिसके हाथ , पाँव , वाणी , मन अच्छी तरह संयत हैं और जों विद्धा , तप तथा कीर्ति से समन्वित हैं ,उन्हें ही तीर्थ […]

धन तैरस की कथा | Dhantairas Ki Katha

धन तेरस 2021  का महत्त्व  कार्तिक कृष्णा त्रयोदशी तिथि को धन तेरस का त्यौहार मनाया जाता हैं | इस दिन धन्वन्तरी जयंती भी मनाई जाती हैं | देव चिकित्सक भगवान धन्वन्तरी का जन्म पुराणों के अनुसार एक समय अमृत प्राप्ति हेतु देवासुरों ने जब समुन्द्र मन्धन किया ,तब उसमे से दिव्य कान्ति युक्त , अलकरनो […]

बुधाष्टमी व्रत विधि, बुधाष्टमी व्रत का महात्म्य | Budhashtmi Vrat Ki Vidhi

बुधाष्टमी व्रत का महात्म्य Budhashtmi-vrat Ki Vidhi भगवान श्री कृष्ण बोले — अब में बुधाष्टमी व्रत का महात्म्य [ विधान ] बतलाता हूँ , जिसे करने वाला कभी नरक  का मुहँ नही देखता | जब जब शुक्ल पक्ष की अष्टमी को बुधवार पड़े तो उस दिन यह व्रत करना चाहिए | पूर्वाह में नदी आदि […]

Back To Top