Category: व्रत विधि

अथ बुधवार की आरती

आरती युगल किशोर की कीजै | तन       मन   न्योछावर  कीजै || गौरश्याम मुख निरखन लीजै | हरी को स्वरूप नयन भरी पीजै || रवि शशी कोटि बदन की शोभा | ताहि निरखि मेरो मन लोभा || ओढ़े    नील  पीत    पट  सारी | कुञ्जबिहारी    गिरिवरधारी || फुलं की सेज फूलन की माला | […]

|| श्री सत्यनारायण जी की आरती ||

जय लक्ष्मी स्वामी , प्रभु जय कमला स्वामी | प्रभो सत्यनारायण जय अन्तर्यामी || टेर || शुक्ल…वर्ण पीताम्बर…वनमाला धारी | चक्र सुदर्शन कर में  , रिपुगण भयकारी || १ || शंक  गदात्पल सुन्दर , हाथों में सोहे | तब सुन्दरता देखत , कोटि मदन मोहे || २ || राधा – कृष्ण तुम्हीं हो , तुम […]

|| आरती जगदीश हरे की || Aarti Jagdish Hare Ki

| आरती जगदीश हरे की || Aarti Jagdish Hare Ki ॐ जय जगदीश हरे , स्वामी जय जगदीश हरे | भक्त जनों के संकट , छिन में दूर करे || टेर || जों ध्यावे फल पावे , दुःख विनसे  मन  का  | सुख़ सम्पति घर आवे ,कष्ट मिटे तन का ||१ || मात पिता  तुम […]

रविवार ||आदित्यवार की आरती| ravivar-aadityvar-aarti

रविवार की आरती  कहूँ लगी   आरती  दास करेगे , समुन्द्र   जाके  चरणनई  बसे , कोटि  भानु जाके नख की शौभा , भार   अठारह  रमा  बलि  जाके , छप्पन भोग जाके नित प्रति लागे   अमित कोटि जाके  बाजा  बाजे , चार  वेद जाके  मुख की शौभा , शिव सनकादिक आदि ब्रह्मादिक , हिम मन्दार  जाको […]

श्री राम वन्दना, श्री राम स्तुति | Shree Ram Vandana , Shree Ram AArti

श्री राम वन्दना, श्री राम स्तुति | Shree Ram Vandana , Shree Ram AArti आपदामपहर्तार्म     दातारं     सर्वसम्पदाम |   लोकाभिरामम श्री रामम भूयो भूयो नमाम्यहम || रामाय   रामभद्राय  रामचन्द्राय  मानसे |    रघुनाथाय नाथाय सीतायाः पतये नम: || नीलाम्बुजश्यामलकोमलाग    सीतास्मारोपितवाम भागम |  माणओ  महासायक चारुचापम नमामि   रामम    रघुवंश नाथम ||   श्री राम स्तुति […]

विनायक शान्ति व्रत | VINAYAK SHANTI VRAT

विनायक शान्ति व्रत | VINAYAK SHANTI VRAT विनायक शान्ति व्रत विधि – विनायक – शान्ति व्रत  करने से सभी मानव समस्त आपतियों से मुक्त हो जाते हैं | इसके आचरण से सभी अरिष्ट नष्ट हो जाते हैं | यह विनायक – शान्ति सम्पूर्ण विघ्नों को दुर करने के लिये की जाती हैं | बिना किसी […]

बुधाष्टमी व्रत विधि, बुधाष्टमी व्रत का महात्म्य | Budhashtmi Vrat Ki Vidhi

बुधाष्टमी व्रत का महात्म्य Budhashtmi-vrat Ki Vidhi भगवान श्री कृष्ण बोले — अब में बुधाष्टमी व्रत का महात्म्य [ विधान ] बतलाता हूँ , जिसे करने वाला कभी नरक  का मुहँ नही देखता | जब जब शुक्ल पक्ष की अष्टमी को बुधवार पड़े तो उस दिन यह व्रत करना चाहिए | पूर्वाह में नदी आदि […]

श्री कृष्ण जन्माष्टमी व्रत कथा व्रत पूजन विधि | Shree Krishna Janmashtami Vrat Katha , Vrat Pujan Vidhi , Mahattv2020

श्री कृष्ण जन्माष्टमी का महत्त्व Shree Krishna Janmashtami Mahattv जन्माष्टमी 2021  30 अगस्त  सोमवार  निशिथ पूजा– 12 बजकर 04 मिनट से 12 बजकर 48मिनट पारण– 11बजकर 15मिनट   के बाद रोहिणी समाप्त- रोहिणी नक्षत्र रहित जन्माष्टमी अष्टमी तिथि आरंभ – 09बजकर 06 मिनट  अष्टमी तिथि समाप्त – 11बजकर 15मिनट   श्री कृष्ण जन्माष्टमी का व्रत भगवान में […]

Back To Top