कार्तिक के महीने में किये जाने वाले व्रत | kartik mahine men kiye jane vale vrat

                     कार्तिक स्नान एव प्रमुख व्रत कार्तिक मास कि पूर्णिमा से पूर्णिमा तक यह व्रत किया जाता है इस व्रत को करने वाली महिलाओ को सुबह पांच बजे उठकर तारों की छावं में ठंडे पानी से स्नान किसी पवित्र नदी या तालाब में स्नान करना चाहिए | स्नान के पश्चात घर या मन्दिर आकर भगवान […]

 ब्रह्म मुहूर्त में उठने के चमत्कारिक लाभ |advantages of brahama muhurta

 ब्रह्म मुहूर्त में उठने के चमत्कारिक लाभ advantages of brahama muhurta सूर्योदय के पहले चार घड़ी तक लगभग डेढ़ घंटा पूर्व ब्रह्म मुहूर्त का समय माना जाता है उस समय पूर्व दिशा में स्थित इसमें थोड़ी थोड़ी लालिमा दिखाई देती है तथा कुछ नक्षत्र भी आकाश में दिखाई देते हैं इस समय को अमृतवेला के […]

रामायण मनका 108 | Ramayan Manka 108

रामायण मनका 108 | Ramayan Manka 108 रामायण मनका 108 का घर के सभी सदस्य नित्यकर्म से निर्वत होकर घर में मंगलवार व शनिवार को या प्रतिदिन सस्वर वाचन [ पाठ ] करने से सभी मनोकामनाये पूर्ण हो जाती हैं | परिवार में सुख शांति , आपसी सामंजस्य , अपार प्रभु श्री राम की कृपा […]

आशादशमी व्रत कथा एवं व्रतके नियम पूजा विधि 2021 | ASHA DASHMI VRAT KI KATHA , VRAT KE NIYAM , POOJAN VIDHI 2021

आशादशमी व्रत कथा एवं व्रतके नियम पूजा विधि 2021 ASHA DASHMI VRAT KI KATHA , VRAT KE NIYAM , POOJAN VIDHI 2021 प्राचीन काल में निषद देश में नल नाम के एक राजा थे | उनके भाई घुत में जब उन्हें पराजित के दिया , तब नल अपनी भार्या दमयन्ती के साथ राज्य से बाहर […]

श्रीमद्भगवद्गीता द्वितीय अध्याय हिंदीअनुवाद |ADHYAAY HINDI ANUVAAD

श्रीमद्भगवद्गीता द्वितीय अध्याय हिंदीअनुवाद ADHYAAY HINDI ANUVAAD संजय बोले- तब करुणा-ग्रस्त और आँसुओं से पूर्ण, व्याकुल दृष्टि वाले, शोकयुक्त अर्जुन से भगवान मधुसूदन ने यह वचन कहा॥1॥ श्री भगवान बोले हे अर्जुन !तुझे इस समय में यह मोह किस हेतु से प्राप्त हुआ क्योंकि मैं तो यह श्रेष्ठ पुरुषों द्वारा आश्रित है न स्वर्ग को […]

मंदिर में घंटी बजाने के चमत्कारिक लाभ | MANDIR MAIN GHANTI BJAANE KE CHMTKARIK LABH

हिन्दू धर्म में देवालयों व मन्दिरों के बाहर घंटिया लगाने की परम्परा ऋषि मुनियों ने शुरू की थी | इस परम्परा को बोद्ध धर्म , इसाई धर्म , ने भी अपना रखा हैं |चर्च में भी घंटी और घंटा लगाया जाता हैं | घंटिया चार प्रकार की होती हैं –  गरुड घंटी — गरुड घंटी […]

ॐ तनोट माता जी की आरती ॐ TANOT MATA JI KI AARTI

तनोट माता मन्दिर तनोट माता मन्दिर  जैसलमेर से 130 किलोमीटर दुर भारत – पाकिस्तान की सीमा के पास स्थित हैं | यह मन्दिर 1200 साल पुराना हैं |1965 की लड़ाई में पाकिस्तानी सेना की तरफ से गिराये गये करीब 3000 बम में से लगभग 450 बम मन्दिर परिसर में गिरे उनमें से एक भी बम […]

श्री संतोषी माता की चालीसा | Shree Santoshi Mata Ki Chalisa

श्री संतोषी माता की चालीसा दोहा बन्दौ सन्तोषी चरण रिद्धि सिद्धि दातार | ध्यान धरत ही होत नर दुःख सागर से पार || भक्तन को सन्तोष दे सन्तोषी तव नाम | कृपा करहु जगदम्ब अब आया तेरे धाम || जयं सन्तोषी माता अनुपम शान्ति दायनी रूप मनोरम || सुन्दर चरण चतुर्भुज रूपा | वेश मनोहर […]

पापांकुशा एकादशी [ आश्विन शुक्ल पक्ष ] | Papankusha Eakadashi { Ashwin Shukal Paksh ]

पापांकुशा एकादशी [ आश्विन शुक्ल पक्ष ] | Papankusha Eakadashi { Ashwin Shukal Paksh ] युधिष्ठिर ने कहा  – हे मधुसुदन ! आश्विन शुक्ल पक्ष की एकादशी का क्या नाम हैं ? कृपा कर बतलाइये | श्री कृष्ण भगवान ने कहा – हे राजेन्द्र ! यह एकादशी पापों का नाश करने वाली पुण्य फल प्रदान […]

माघ मास [माघ स्नान ] की कथा | MAGH MAAS SNAN KI KATHA

स्कन्ध पुराण के रेवा खण्ड में माघ स्नान की कथा का उल्लेख में आया हैं की प्राचीन काल में नर्मदा तट पर शुभव्रत नामक ब्राह्मण निवास करते थे | वे गुणी विद्धवान थे |किन्तु उनका स्वभाव धन संग्रह करने का था | उन्होंने धन तो बहुत संग्रह किया | वृद्धवस्था के दौरान उन्हें अनेक रोगों […]

Back To Top