गेहूँ के चोकर [ तुष ] के औषधीय गुण | आयुवैदिक इलाज | gahu ke choukar ke gun

 गेहूँ के चोकर [ तुष ] के औषधीय गुण | आयुवैदिक इलाज

  1. चोकर [ तुष  ] गेहूं के चोकर कब्ज दूर करनेमें रामबाण ओषधि  है।चोकर  से स्नान  करने से चर्मरोग सदा सदा के लिए  ठीक हो जाता है।
  2. परंतु चबाते  समय मुँहको लारसे मुलायम हो जाता है। चूंकि यह मुँहकी लारको काफी मात्रामें समेट लेता है, अतः भोजन को पचाने में भी सहायता करता है।
  3. चौकर युक्त आटे की रोटी खाने से शरीर की क्रांति बनी रहती हैं
  4. चोकर युक्त गेहूं के आटे से बनी रोटी का सेवन करनेसे निम्नलिखित लाभ भी प्राप्त होते हैं, जैसे  –  यह मलको सूखने नहीं देता पेट की नसों को मुलायम रखता हैं |
  5. मलाशमका कैंसर नहीं होता।
  6. आंतोंमें जाकर उत्तेजना पैदा नहीं करता, अपितु बृहदान्त्र एवं  गुदगुदी पैदा करता है |
  7. इससे मल पतला नहीं अपितु मुलायम तथा बंधा हुआ आता है।
  8. आँतोंमें मरोड़ पैदा नहीं होती। मल बिना जोर  लगाये आसानीसे निकल जाता है। जोर लगाकर मेल निकालनेसे नाडी  कमजोर हो जाती है तथा शक्ति न रहना, गैस बनना ,  बवासीर, माइग्रेन  , आफरा , इत्यादि रोग होनेका डर रहता है|
  9. चोकर का सेवन करना  हर दृष्टिसे अच्छा है।
  10. भोजनमेंसे गुणकारी  चोकरको निकालकर हम शरीरके साथ अन्याय करते हैं। चोकर निकाले हुए आटेकी रोटियाँ स्वास्थ्यके लिये हानिकारक हैं | बिना चोकर युक्त रोटी खाने से मोटापा बढ़ता हैं |  वे गेहू के गुणों को नष्ट करती हैं |
  11. चोकरसे शरीरअन्दर से शुद्ध और पवित्र रहता है।
  12. यह पेटके अंदर की सफाई  कर पेटको साफ कर देता है। पेट साफ रहनेसे शरीर में कोई बीमारी नहीं होती।
  13. सभी माता बहनों से मेरी विनती हैं भोजनमें चोकरको प्रधानता दें।
  14. अपने परिवार के सदस्यों को अच्छा खान – पान दे |इसको आटे में मिलाइये।
  15. सब्जी, दूध, दही, सलाद, शहद में मिलाकर खाइये।
  16. चौकर के गुड़में मिलाकर लड्डू बनाइये।
  17. कुछ दिन चोकर युक्त आटा खाइए फिर स्वयं चमत्कारिक बदलाव देखिये | इस प्रयोग से  कैंसरसे दूर रखता है तथा आँतोंकी सुरक्षा होती हैं |
  18. आमाशयके घावको ठीक करता है।
  19. क्षयरोग भी दूर करता है  |
  20. हृदय रोगसे बचाता है |
  21. कोलेस्ट्रोल को संतुलित करता हैं |
  22. यदि  आपको  अपने परिवार को स्वस्थ रखना है तो  आप भी चोकर युक्त आटे की रोटी खिलाइए  औरआप स्वयं भी  चोकर जरूर खाइये।
  23. चोकर खानेवालोंको एपेंडीसा नहीं  होती  हैं |
  24. आँतोंकी बीमारी नहीं होती।
  25. मोटापा घटानेके लिये चोकर निरापद औषधि है  | चोकर का प्रयोग मोटापे में रामबाण ओषधि हैं |
  26. क्योंकि भोजनमें कमी करनेकी आवश्यकता नहीं पड़ती, रोगी आसानीसे पतला हो जाता है। क्यों की चौकर में फाइबर अधिक होता हैं |
  27. गेहूं चोकर मधुमेह निवारणमें मदद करता है।
  28. चोकरका हलवा खाने से हड्डी में गेस नही बनती  है।
  29. चोकर युक्त   मिस्सी रोटीको और भी स्वादिष्ठ बनती  है। चोकरदार बूँदीका रायता स्वादके साथ खाया जा सकता है।
  30. बनाता है। चोकरदार नका बूँदीका रायता स्वादके साथ खाया जा सकता है। १५- इडली, डोसा, कचौड़ी बनाते समय चोकरको न
  31. बाते भूलें। सरसोंका शाक चोकरके साथ बनाइये।
  32. की १६- चोकर साफ-सुथरा, मोटा, स्वादिष्ठ ताजे आटासे नमें निकाला हुआ एवं जर्म्स (Germs) से मुक्त होना चाहिये। १७-छोटी मिलका सफाईसे बना चोकर मोटा एवं री अच्छा होता है।
  33. चोकर खानेवालोंका दिल-दिमाग स्वस्थ रहता ये है क्योंकि चोकरसे पेट साफ हो जाता है। याद रखें क़ब्ज़ ही अधिकतर रोगोंकी जड़ है। यह बच्चो की यादाश्त को भी बढ़ता हैं |
  34. चोकर क्षारधर्मी होनेके कारण रक्त की  रोगों से लड़नेकी ताकत बढ़ाता है।
  35. सभी प्रकारके अत्रके रेशों में  गेहूँका चोकर गुणकारी  है।
  36. चोकरमें प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट, केलोरीज, रेशा, कैलशियम, सोडियम, आक्जेलिक एसिड, पोटेशियम, ताँबा, सल्फर, क्लोरीन, जिंक, थियामिन, विटामिन ए रिबोफ्लोविन, निकोटिनिक एसिड, पायरिडोक्सिन, फोलिक एसिड, प्रेटाथेनिक एसिड एवं विटामिन के k  पाया जाता है।
  37. अपने खान पान जीवन शैली में बदलाव करके स्वस्थ रह सकते हैं | अनेक बीमारियों से बचा जा सकता हैं |
  38. अन्य अम्न्धित पोस्ट
  39. गौमूत्र के ओषधिय गुण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.