Category Archives: आरती

श्रीजगन्मंगलराधा कवच तथा राधा कवच की महिमा | Shree Radha Kawach Aur Radha Kawach ki Mahima

By | August 18, 2020

श्री जगन्मंगलराधा कवच तथा राधा कवच की महिमा श्रीजगन्मंगल-राधाकवच तथा उसकी महिमा – श्री पार्वती बोली – श्री राधा जी की पूजा का विधान और स्तोत्र अत्यन्त अद्भुत है, उसे मैंने सुन लिया। अब राधाकवच का वर्णन कीजिये। आपकी कृपा से उसे भी सुनूँगी। श्री महेश्र्वर कहा– दुर्गे! सुनो। मैं परम अद्भुत राधा कवच का… Read More »

भगवान महादेव जी की आरती HAR HAR MHADEV JI KI AARTI

By | March 24, 2020

 भगवान महादेव जी की आरती HAR HAR MHADEV JI KI AARTI सत्य , सनातन , सुन्दर , शिव ! शिव सबके स्वामी | अविकारी , अविनाशी , अज अन्तर्यामी || हर हर हर महादेव ………. आदि अनन्त , अनामय , सकल , कलाधारी | अमल , अरूप , अगोचर ,अविचल अघहारी || हर हर महादेव… Read More »

आरती कृष्णजी की , कृष्ण वन्दना | aarti-krishn-ji-ki-shree-krishn-vandna

By | December 20, 2019

                         श्री  कृष्ण वन्दना भजे ब्रजैकमण्डनं समस्तपापखण्डन , स्वभक्तचितरंजनं सदैव , नन्दनन्दम | सुपिच्छगुच्छमस्तकम सुनादवेण हस्तकम , अनंगरंग सागरम नमामि कृष्णनागरम || आरती कृष्णजी की ॐ जय श्री कृष्ण हरे , प्रभु जय श्री कृष्ण हरे , भक्तन के दुःख सारे पल में दुर… Read More »

शिवाष्टकं स्तोत्र | Shivashtakam Stotra

By | July 20, 2019

शिवाष्टकं स्तोत्र  Shivashtakam Stotra प्रभुं प्राणनाथं विभुं विश्वनाथं जगन्नाथ नाथं सदानन्द भाजाम् । भवद्भव्य भूतेश्वरं भूतनाथं, शिवं शङ्करं शम्भु मीशानमीडे ॥ 1 ॥   गले रुण्डमालं तनौ सर्पजालं महाकाल कालं गणेशादि पालम् । जटाजूट गङ्गोत्तरङ्गै र्विशालं, शिवं शङ्करं शम्भु मीशानमीडे ॥ 2॥ मुदामाकरं मण्डनं मण्डयन्तं महा मण्डलं भस्म भूषाधरं तम् । अनादिं ह्यपारं महा मोहमारं,… Read More »

आरती भैरव जी भगवान की | Arti Bhairav Ji Bhgwan Ki

By | July 25, 2019

आरती भैरव जी भगवान जी की  जय भैरव देवा, प्रभु जय भैरव देवा  जय काली और गौर देवी कृत सेवा॥ ॥ जय भैरव देवा…॥ तुम्ही पाप उद्धारक दुःख सिन्धु तारक भक्तो के सुख कारक भीषण वपु धारक॥ ॥ जय भैरव देवा…॥ वाहन श्वान विराजत कर त्रिशूल धारी महिमा अमित तुम्हारी जय जय भयहारी॥ ॥ जय… Read More »

श्री शिव शंकर शत नामावली | Shree Shiv Shankr Shat Namavali

By | December 14, 2018

जय महादेव देवाधिदेव , भोले शंकर शिव सुखरासी | जय रामेश्वर जय सोमेश्वर , जय घुमेश्वर जय कैलाशी || जय गंगाधर त्रिशुलधर शशिधर , सर्वेश्वर जय अविनाशी | जय विश्वात्मन विभु विश्वनाथ , जय उमानाथ काटो फांसी || सर्वव्यापी अन्तर्यामी शिव , रूद्र निरामय त्रय लोचन | भव भयहारी जय त्रिपुरारि , जय मदन दहन… Read More »

शिव नटराज स्तुति | Shiva Natraj Stuti

By | December 13, 2018

  शिव नटराज स्तुति भगवान शिव की आराधना  तत सृष्टि ताण्डव रचयिता नटराज राज नमो नम: हे आद्य गुरु शंकर पिता नटराज राज नमो नम: ….. गंभीर नाद मृदंगना धबके उरे ब्रह्माड़ना नित होत नाद प्रचण्डना नटराज राज नमो नम: …….. शिर ज्ञान गंगा चन्द्रमा चिदब्रह्म ज्योति ललाट माँ विषनाग माला कंठ माँ नटराज राज… Read More »

सीताराम सीताराम सीताराम कहिये | Sitaram Sitaram ,Sitaram kahiye |

By | August 8, 2019

|| सीताराम सीताराम सीताराम कहिये || सीताराम सीताराम सीताराम कहिये | जाही विधि राखे राम , ताहि विधि रहिये || मुख में हो राम नाम , राम सेवा हाथ में | तू अकेला नाही प्यारे राम तेरे साथ में || विधि का विधान जान हानि लाभ सहिये | जाही विधि राखे राम , ताहि विधि… Read More »

|| आरती श्रीरामचन्द्र जी की || || Aarti Shree Ramchandr Ji ki ||

By | November 30, 2018

|| आरती श्रीरामचन्द्र जी की || जगमग जगमग जोत जली हैं | राम आरती होने लगी हैं || भक्ति का दीपक प्रेम की बाती | आरती संत करे दिन राती || आनन्द की सरिता उमरी हैं | जगमग जगमग जोत जली हैं || कनक सिंहासन सिया समेता | बैठहिं राम कोई चित चेता || बाम… Read More »

आरती सन्तोषी माता की | Aarti Santoshi Mata Ki

By | November 29, 2018

आरती सन्तोषी माता की जय सन्तोषी माता , मैया जय सन्तोषी माता | अपने सेवक जन की सुख सम्पति दाता || ॐ जय सन्तोषी माता …………|| सुन्दर चीर सुनहरी माँ धारण कीन्हो || हीरा पन्ना दमके , तन श्रंगार लीन्हो || ॐ जय सन्तोषी माता …………|| गेरू लाल छटा छवि बदन कमल सोहें | मंद… Read More »