करवा चौथ व्रत की पूजा सामग्री , महत्त्व व पूजा विधि 2018 | Karva Chauth Vrat Ki Puja Samgri , Mahattv And Puja Vidhi 2018

Spread the love
  • 165
    Shares

Last updated on October 12th, 2018 at 10:05 pm

करवा चौथ व्रत का महत्त्व 

                                                                    इस वर्ष 27  अक्टूबर  शनिवार  को करवा चौथ का व्रत हैं |  कार्तिक कृष्णा चतुर्थी को मनाया जाने वाला वाला यह व्रत सौभाग्यवती स्त्रियों के द्वारा किया जाता हैं | यह व्रत स्त्रियों को बहुत प्रिय हैं | स्त्रिया व पति की कामना करने वाली कन्या विशेष रूप से इस चतुर्थी व्रत को करती हैं | सौभाग्यवती स्त्रिया पति व पुत्र की दीर्घायु की  मंगल कामना से यह व्रत करती हैं |

यह व्रत स्त्रियों को सौभाग्य , उत्तम रूप और सुख़ देने वाला हैं | इस व्रत में शिव पार्वती , श्री कार्तिकेय , गणेशजी , चन्द्रमा का विधि विधान से पुंजन किया जाता है   |करवा चौथ व्रत की कहानी 

 करवा चौथ पूजा की  आवश्यक सामग्री –

एक मिट्टी का करवा ,  लाल कपड़ा , पैसा , बौर , काचरा , आवला , पुष्प , मोगरी , चवले की फली , शक्कर आदि |

 करवा चौथ पूजा विधि –

करवा ले जिसमें जल भरें उसमें पैसे , बौर , काचरा , आवंला , पुष्प , मोगरी , चवले की फली आदि डालें जाते है | करवे पर शक्कर भर के कटोरी रख कर लाल कपड़े से उसका मुंह बांधा जाता हैं | लाल ब्लाउज पिस व पैसे भी उस पर रखे |

एक बाजोट रख कर चौथ माता व गणेश जी की पातडी रख कर तेहर तेहर टिकी काजल मेहँदी व रोली की लगा कर गणेश जी व चौथ माता के भी टीकी लगाये | मन में चौथ माता व गणेश जी का ध्यान करें | ज्योत कर गणेश जी को हलवे का भोग लगा कर कहानी सुनें | चाँद उगने परचाँद को अर्ध्य देकर साँस को बायना देकर ससुर जी व पति देव के चरण स्पर्श कर भोजन करें |

 

अन्य व्रत त्यौहार –

करवा चौथ व्रत की कहानी 

गणेश जी की कहानी 

लपसी तपसी की कहानी 

धन तेरस का महत्त्व , शुभ मुहूर्त 

छोटी दीवाली पूजा विधि 

दीवाली पूजा विधि , शुभ मुहूर्त 

भैया दूज व्रत कथा , व्रत विधि