Tag: sty ki vijy

दशावतार व्रत कथा , दशावतार व्रत विधान और फल | dshavtar-vrt-katha-phal-aur-vidhan

दशावतार – व्रत कथा , विधान और फल भगवान श्री कृषण कहते हैं —- राजन ! सतयुग के प्रारम्भ में भृगु नाम के एक ऋषि हुए थे | उनकी भार्या दिव्या अत्यंत पतिव्रता थीं | वे आश्रम की शोभा थी और निरन्तर ग्रहकार्य में सलग्न रहती थी | वे महऋषि भृगु की आज्ञा का पालन […]

Back To Top