Tag: ॐ नमो नारायणाय

स्वप्न के शुभ फल |Swapn Ke Shubh Phal

स्वप्न के शुभ फल |Swapn Ke Shubh Phal स्वप्न ज्योतिष के अनुसार रात्रि में शयन के पश्चात जो चलचित्र दिखाई देते हैं उन्हीं विचारो को स्वप्न कहते हैं | सोते समय चेतना की अनुभूति ही स्वप्न हैं | हम रात भर स्वप्न देखते हैं , दिवा स्वप्न भी लोग अक्सर देखते हैं दिवा स्वप्न कल्पना […]

पुत्रदा एकादशी व्रत [ श्रावण मास शुक्ल पक्ष ] का माहात्म्य Putrada Ekadashi Vrat [ Sawan Maas Shukl Paksh ] Ka Mahatmy

  Putrada Ekadashi Vrat [ Sawan Maas Shukl Paksh ] Ka Mahatmy पुत्रदा एकादशी व्रत [ श्रावण मास शुक्ल पक्ष ] का माहात्म्य युधिष्ठर ने पूछा – हे मधुसुदन ! गोविन्द ! आपको नमस्कार हैं | श्रावण शुक्ल पक्ष की कौनसी एकादशी होती हैं ? उसका वर्णन कीजिये | भगवान वासुदेव बोले –राजन ! सुनो […]

माघ मास [माघ स्नान ] की कथा

स्कन्ध पुराण के रेवा खण्ड में माघ स्नान की कथा का उल्लेख में आया हैं की प्राचीन काल में नर्मदा तट पर शुभव्रत नामक ब्राह्मण निवास करते थे | वे गुणी विद्धवान थे |किन्तु उनका स्वभाव धन संग्रह करने का था | उन्होंने धन तो बहुत संग्रह किया | वृद्धवस्था के दौरान उन्हें अनेक रोगों […]

Back To Top