Tag: पुरषोत्तम मास

Purshotam maas | पुरषोत्तम मास का महात्म्य

पुरुषोत्तम, मल या अधिक मास  सनातन धर्म संस्कृति में  पंचांग के अनुसार प्रत्येक तीसरे वर्ष एक अधिक मास होता है। यह सौर और चंद्र मास को एक समान करने  की प्रकिया है। शास्त्रों के अनुसार पुरुषोत्तम मास में किए गए जप, तप, दान , भगवत भक्ति ,कथा श्रवण से अनेक पुण्यों की प्राप्ति होती है।  […]

Back To Top