सीताराम सीताराम सीताराम कहिये | Sitaram Sitaram ,Sitaram kahiye |

Last updated on August 8th, 2019 at 09:35 pm

|| सीताराम सीताराम सीताराम कहिये ||

सीताराम सीताराम सीताराम कहिये | जाही विधि राखे राम , ताहि विधि रहिये ||

मुख में हो राम नाम , राम सेवा हाथ में | तू अकेला नाही प्यारे राम तेरे साथ में ||

विधि का विधान जान हानि लाभ सहिये | जाही विधि राखे राम , ताहि विधि रहिये ||

किया अभिमान तो फिर मान नहीं पायेगा | होगा प्यारे वहीं जो श्री राम जी को भायेगा ||

फल आशा त्याग , शुभ काम करते रहिये | जाही विधि राखे राम , ताहि विधि रहिये ||

जिन्दगी डोर सौप , हाथ दीनानाथ के | महलो में राखे चाहे , झोपडी में वास दे ||

धन्यवाद निविर्वाद , राम राम कहिये | जाही विधि रखे राम , ताहि विधि रहिये ||

आशा एक रामजी की , दूजी आशा छोड़ दे | नाता एक रामजी से दूजा नाता तोड़ दे ||

साधू संग , राम रंग , अंग अंग रंगिये | काम रस त्याग प्यारे , राम रस पगिये ||

सीताराम सीताराम , सीताराम कहिये | जाही विधि रखे राम , ताहि विधि रहिये ||

अन्य समन्धित पोस्ट

आरती रामचन्द्र जी की

आरती भैरव भगवान जी

आरती हनुमान जी की

आरती शिव जी भगवान की

आरती एकादशी माता की

आरती पार्वती माता की

श्री राम स्तुति

आरती वैष्णव देवी  माता की

हनुमान चालीसा

संकट मोचन हनुमानष्टक

सुन्दर काण्ड

आरती खाटूश्याम जी की

आरती कृष्ण भगवान जी की

आरती दुर्गा माता की